सुकन्या समृद्धि योजना 2023: जानिए ब्याज दर और बचत करने के फायदे

सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) एक बचत योजना है जो भारत सरकार द्वारा शुरू की गई है। इस योजना का उद्देश्य बेटियों की शिक्षा एवं उनकी शादी के लिए तैयारी करना है। इस योजना में बचत करने वाली बेटियों को उनकी शादी या उनकी उच्च शिक्षा के लिए एक सुरक्षित भविष्य के लिए धनराशि प्रदान की जाती है।

इस योजना में समय सीमा 21 वर्ष है या जब बेटी शादी के लिए या उच्च शिक्षा के लिए धनराशि निकालना चाहती है, जो भी पहले हो। इस योजना में बचत करने के लिए अधिकतम उम्र 10 वर्ष है और न्यूनतम राशि 250 रुपये है।

इस योजना के अंतर्गत बचत के लिए ब्याज दर सरकार द्वारा संचालित होती है। 2023 में सुकन्या समृद्धि योजना की ब्याज दर 7.6 प्रतिशत होगी। इस योजना में बचत की राशि को प्रति वर्ष बढ़ाया जाएगा और यह साढ़े दस साल में मिलेगा।

इस योजना में बचत करने वाले लोग अपनी बेटी के नाम से खाता खोल सकते हैं

भारत सरकार द्वारा संचालित सुकन्या समृद्धि योजना एक विशेष बचत योजना है, जो भारत के सभी राज्यों में उपलब्ध है। इस योजना के तहत बचत करने वालों को राशि को प्रति वर्ष बढ़ाया जाता है और ब्याज दर सरकार द्वारा संचालित होती है। यह योजना बेटियों की शिक्षा एवं शादी के लिए तैयारी करने के लिए शुरू की गई है।

इस योजना में बचत के लिए न्यूनतम राशि 250 रुपये है और अधिकतम राशि 1.5 लाख रुपये है। इस योजना में बचत की अवधि 21 वर्ष है, जो बेटी की उम्र या उनकी शादी या उच्च शिक्षा के लिए धनराशि निकालने की इच्छा पर निर्भर करती है।

READ  8 Useful “Google Play Store Tricks” And Features For Every Android User

इस योजना में बचत की ब्याज दर 2023 में 7.6 प्रतिशत होगी, जो सरकार द्वारा संचालित होती है। बचत की राशि को प्रति वर्ष बढ़ाया जाता है और यह साढ़े दस साल में मिलता है।

इस योजना के अंतर्गत बचत करने वालों को एक सुरक्षित भविष्य के लिए धनराशि प्रदान की जाती है।

सुकन्या समृद्धि योजना के लाभ

1. देश में 10 वर्ष से कम आयु की बालिकाओं के भविष्य को आर्थिक संकट से बचाने के लिए सरकार द्वारा यह योजना संचालित की गई है।
2. यह योजना खाताधारक को निवेश राशि पर 7.6% की दर से ब्याज प्रदान करती है जो कर मुक्त है।
3. सुकन्या समृद्धि योजना निवेशकों को केंद्र सरकार द्वारा संचालित अन्य योजनाओं की तुलना में उच्च ब्याज दर पर गारंटीड रिटर्न प्रदान करती है।
4. एक निवेशक अपनी आर्थिक स्थिति के अनुसार इस योजना के तहत हर साल न्यूनतम ₹250 और अधिकतम ₹1.5 लाख का निवेश कर सकता है।
5. इस योजना के तहत आयकर अधिनियम की धारा 80सी के तहत हर साल ₹500000 तक की कर छूट प्रदान की जाती है

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत पात्रता

1. बालिका का सुकन्या समृद्धि खाता केवल बालिका के माता-पिता या कानूनी अभिभावक ही खोल सकते हैं।
2. माता-पिता या अभिभावक का भारत का स्थायी निवासी होना अनिवार्य है।
3. केवल 10 वर्ष से कम आयु की बालिका ही इस योजना के तहत निवेश खाता खोल सकती है।
4. इस योजना के तहत एक परिवार की केवल 2 लड़कियां ही निवेश खाता खुलवा सकती हैं। यदि किसी परिवार में एक लड़की के बाद जुड़वां लड़कियां पैदा होती हैं तो ऐसी स्थिति में जुड़वा लड़कियों के अलग-अलग निवेश खाते खोले जा सकते हैं।

READ  Free ₹100 Amazon Voucher By Streaming Music in Amazon Music

आवश्यक दस्तावेज

1. आधार कार्ड, पैन कार्ड, माता-पिता या कानूनी अभिभावक का पहचान पत्र (जिसके द्वारा खाता संचालित किया जाता है)
2. बालिका का जन्म प्रमाण पत्र,
3. पता प्रमाण
4. चिकित्सा प्रमाण पत्र

बैंक या डाकघर द्वारा मांगे गए सभी आवश्यक दस्तावेज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.