शनि देव के 108 नाम || Shani Dev ||

 

शनि देव के 108 नाम (108 Names of lord Shani in Hindi)

शनैश्चर- धीरे- धीरे चलने वाला

शान्त- शांत रहने वाला

सर्वाभीष्टप्रदायिन्- सभी इच्छाओं को पूरा करने वाला

शरण्य- रक्षा करने वाला

वरेण्य- सबसे उत्कृष्ट

सर्वेश- सारे जगत के देवता

सौम्य- नरम स्वभाव वाले

सुरवन्द्य- सबसे पूजनीय

सुरलोकविहारिण् – सुरह्स की दुनिया में भटकने वाले

सुखासनोपविष्ट – घात लगा के बैठने वाले

सुन्दर- बहुत ही सुंदर

घन – बहुत मजबूत

घनरूप – कठोर रूप वाले

घनाभरणधारिण् – लोहे के आभूषण पहनने वाले

घनसारविलेप – कपूर के साथ अभिषेक करने वाले

खद्योत – आकाश की रोशनी

मन्द – धीमी गति वाले

मन्दचेष्ट – धीरे से घूमने वाले

महनीयगुणात्मन् – शानदार गुणों वाला

मर्त्यपावनपद – जिनके चरण पूजनीय हो

महेश – देवो के देव

छायापुत्र – छाया का बेटा

शर्व – पीड़ा देना वेला

शततूणीरधारिण् – सौ तीरों को धारण करने वाले

चरस्थिरस्वभाव – बराबर या व्यवस्थित रूप से चलने वाले

अचञ्चल – कभी ना हिलने वाले

नीलवर्ण – नीले रंग वाले

नित्य – अनन्त एक काल तक रहने वाले

नीलाञ्जननिभ – नीला रोगन में दिखने वाले

नीलाम्बरविभूशण – नीले परिधान में सजने वाले

निश्चल – अटल रहने वाले

वेद्य – सब कुछ जानने वाले

विधिरूप – पवित्र उपदेशों देने वाले

विरोधाधारभूमी – जमीन की बाधाओं का समर्थन करने वाला

भेदास्पदस्वभाव – प्रकृति का पृथक्करण करने वाला

वज्रदेह – वज्र के शरीर वाला

वैराग्यद – वैराग्य के दाता

वीर – अधिक शक्तिशाली

वीतरोगभय – डर और रोगों से मुक्त रहने वाले

विपत्परम्परेश – दुर्भाग्य के देवता

विश्ववन्द्य – सबके द्वारा पूजे जाने वाले

गृध्नवाह – गिद्ध की सवारी करने वाले

गूढ – छुपा हुआ

कूर्माङ्ग – कछुए जैसे शरीर वाले

कुरूपिण् – असाधारण रूप वाले

कुत्सित – तुच्छ रूप वाले

गुणाढ्य – भरपूर गुणों वाला

गोचर – हर क्षेत्र पर नजर रखने वाले

अविद्यामूलनाश – अनदेखा करने वालो का नाश करने वाला

विद्याविद्यास्वरूपिण् – ज्ञान करने वाला और अनदेखा करने वाला

आयुष्यकारण – लम्बा जीवन देने वाला

आपदुद्धर्त्र – दुर्भाग्य को दूर करने वाले

विष्णुभक्त – विष्णु के भक्त

वशिन् – स्व-नियंत्रित करने वाले

विविधागमवेदिन् – कई शास्त्रों का ज्ञान रखने वाले

विधिस्तुत्य – पवित्र मन से पूजा जाने वाला

वन्द्य – पूजनीय

विरूपाक्ष – कई नेत्रों वाला

वरिष्ठ – उत्कृष्ट

गरिष्ठ – आदरणीय देव

वज्राङ्कुशधर – वज्र-अंकुश रखने वाले

वरदाभयहस्त – भय को दूर भगाने वाले

वामन – (बौना ) छोटे कद वाला

ज्येष्ठापत्नीसमेत – जिसकी पत्नी ज्येष्ठ हो

श्रेष्ठ – सबसे उच्च

मितभाषिण् – कम बोलने वाले

कष्टौघनाशकर्त्र – कष्टों को दूर करने वाले

पुष्टिद – सौभाग्य के दाता

स्तुत्य – स्तुति करने योग्य

स्तोत्रगम्य – स्तुति के भजन के माध्यम से लाभ देने वाले

भक्तिवश्य – भक्ति द्वारा वश में आने वाला

भानु – तेजस्वी

भानुपुत्र – भानु के पुत्र

भव्य – आकर्षक

पावन – पवित्र

धनुर्मण्डलसंस्था – धनुमंडल में रहने वाले

धनदा – धन के दाता

धनुष्मत् – विशेष आकार वाले

तनुप्रकाशदेह – तन को प्रकाश देने वाले

तामस – ताम गुण वाले

अशेषजनवन्द्य – सभी सजीव द्वारा पूजनीय

विशेषफलदायिन् – विशेष फल देने वाले

वशीकृतजनेश – सभी मनुष्यों के देवता

पशूनां पति – जानवरों के देवता

खेचर – आसमान में घूमने वाले

घननीलाम्बर – गाढ़ा नीला वस्त्र पहनने वाले

काठिन्यमानस – निष्ठुर स्वभाव वाले

आर्यगणस्तुत्य – आर्य द्वारा पूजे जाने वाले

नीलच्छत्र – नीली छतरी वाले

नित्य – लगातार

निर्गुण – बिना गुण वाले

गुणात्मन् – गुणों से युक्त

निन्द्य – निंदा करने वाले

वन्दनीय – वन्दना करने योग्य

धीर – दृढ़निश्चयी

दिव्यदेह – दिव्य शरीर वाले

दीनार्तिहरण – संकट दूर करने वाले

दैन्यनाशकराय – दुख का नाश करने वाला

आर्यजनगण्य – आर्य के लोग

क्रूर – कठोर स्वभाव वाले

क्रूरचेष्ट – कठोरता से दंड देने वाले

कामक्रोधकर – काम और क्रोध का दाता

कलत्रपुत्रशत्रुत्वकारण – पत्नी और बेटे की दुश्मनी

परिपोषितभक्त – भक्तों द्वारा पोषित

परभीतिहर – डर को दूर करने वाले

भक्तसंघमनोऽभीष्टफलद – भक्तों के मन की इच्छा पूरी करने वाले

निरामय – रोग से दूर रहने वाला

शनि – शांत रहने वाला

pulkit khandelwal: